SEO

SEO क्या है और सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कैसे करते हैं?

SEO क्या है और यह Blog के लिए क्यूँ जरुरी है? ये सवाल अक्सर बहुत से नए Bloggers को बहुत परेशान करता है. आज के इस digital युग में अगर आपको लोगों के सामने आना है तब Online ही वो एकमात्र जरिया है जहाँ आप एक साथ करोड़ों लोगों के सामने उपस्तिथ हो सकते हैं.

यहाँ चाहे तो आप खुद video के माध्यम से उपस्तिथ हो सकते हैं या फिर अपने contents के द्वारा लोगों तक अपनी बात पंहुचा सकते हैं. लेकिन ऐसा करने के लिए आपको search engines के first pages में आना होगा क्यूंकि यही वो pages हैं जिन्हें visitors ज्यादा पसंद करते हैं और trust भी करते हैं.

लेकिन यहाँ तक पहुँचना उतना आसान काम नहीं है क्यूंकि इसके लिए आपको अपने Articles का सही ढंग से एसईओ करना होगा. मतलब की उन्हें सही तरीके से Optimized करना होगा जिससे वो Search Engine में rank हो सके. और इसकी प्रक्रिया को ही SEO कहते हैं. वहीँ आज के इस article में हम SEO किसे कहते हैं (What is SEO in Hindi) और  कैसे करे के विषय में जानकारी प्राप्त करेंगे.

यूँ कहे तो Blogging की जान है एसईओ. ऐसा इसलिए क्यूंकि आप चाहे तो कितनी भी अच्छी article लिख लें अगर आपकी article ठीक तरीके से rank नहीं हुई है तब उसमें traffic आने की संभावनाएं न के बराबर होती है. ऐसे में writers का सारा मेहनत पानी में चला जाता है.

इसलिए अगर आप blogging को लेकर serious हैं तब तो आपको SEO tutorial के विषय में जानकारी जरुर रखनी चाहिए. ऐसा करने से ये बाद में आपके बहुत काम में आने वाली हैं. एसईओ का वैसे कोई rule नहीं होते हैं बल्कि ये कुछ Google Algorithms के ऊपर आधारित हैं और वो निरंतर बदलता रहता है.

एक बात का जरुर ध्यान दें की यदि कोई आपसे कहे की वो एक बड़ा SEO Expert in Hindi है तब उसे कभी यकीन न करें क्यूंकि आजतक कोई भी SEO पर mastery नहीं कर पाया है.

ये चीज़ ही ऐसी है और समय के साथ साथ और जरुरत के हिसाब से ये बदलता रहता है. लेकिन फिर भी Google SEO guide के कुछ Fundamentals हैं जो की हमेशा समान होते हैं. इसलिए ये जरुरी है की Bloggers हमेशा खुदको नए एसईओ तकनीक से updated रहें.

इससे आपको market में चल रहे trends के बारे में पता होगी जिससे आप भी अपने articles में जरुरी बदलाव ला सकते हैं जो की बाद में आपको rank करने में मदद करेंगी.

आज हम जानेंगे एसईओ की जानकारी हिंदी में या SEO क्या होता है? दोस्तों पिछली लेख में हमने जाना था की क्या online पैसे कमाना आसान है? Blogging भी एक ऐसा platform है जो आपको online से पैसे कमाने का जरिया देता है.

SEO क्या है और सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कैसे करते हैं?

royguddu.in में मैंने आपको blogging से related बहुत सी जानकारियां दी हैं जो आपके blog को सफल बनाने के काफी काम आ सकती है.

लेकिन उन सभी चीजों से भी ज्यादा जरुरी चीज जो blogging के career में सफलता पाने के लिए बहुत ही माइने रखती है वो है SEO. आज हम जानेगे की सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन क्या है और ये Blog के लिए क्यों जरुरी  है?

Table of Contents
1)What is SEO in Hindi-SEO क्या है?
2)SEO का फुल फॉर्म क्या होता है?
3)SEO के प्रकार -Types of SEO in Hindi
4)On Page SEO
5)Proper Keyword Reasearch करना
6)Website की Navigation
7)Title Tag
8)Permalink
9)Internal Linking
10)Meta Description
11)Image Optimization
12)External Linking
13)Social Signals
14)Content, Heading और Keyword
15)Off Page SEO
16)Guest Post
17)Backlinks
18)Discussion Sites
19)Local SEO
20)Local SEO का उदाहरण
21)SEO ब्लॉग के लिये क्यों जरूरी है?
22)SERP क्या है?
23)SEO हिंदी में

What is SEO in Hindi-SEO क्या है?
SEO का full form search engine optimization होता है यह एक ऐसा technique होता है जिसकी मदद से हम अपने ब्लॉग या वेबसाइट के पोस्ट को optimize करके search engine के पहले page के टॉप position पर रैंक करवा सकते है।

हर एक ब्लॉगर की यही चाहत होती है कि वो अपने द्वारा लिखे गए कंटेंट को गूगल सर्च इंजन के पहले possition में रैंक करवा कर ढेर सारे ट्राफिक अपने साइट पर लाये और ढेर सारे पैसे कमा सके।

What is Seo in Hindi-Seo क्या है

जब आप ब्लॉगर पर नए-नए आते हैं तो आपको What is SEO in Hindi–SEO क्या है? के बारे में जानना आपके लिए बहुत ही जरूरी होता है क्योंकि Seo के मदद से ही आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट के कंटेंट को गूगल सर्च रिजल्ट के टॉप पोजीशन में रैंक करवा पायेंगे।

ब्लॉग या वेबसाइट को गूगल के टॉप पोजीशन मे रैंक करवाने में SEO एक अहम भूमिका निभाता है यह एक ऐसी तकनीक है जिसके माध्यम से हम अपनी वेबसाइट को सर्च इंजन के रिजल्ट में सबसे ऊपर लाकर वेबसाइट की और ऑर्गेनिक ट्रैफिक को बना सके थे को बढ़ा सकेंगे।

ब्लॉग या वेबसाइट को गूगल के टॉप पोजीशन मे रैंक करवाने में SEO एक अहम भूमिका निभाता है यह एक ऐसी तकनीक है जिसके माध्यम से हम अपनी वेबसाइट को सर्च इंजन के रिजल्ट में सबसे ऊपर लाकर वेबसाइट की ऑर्गेनिक ट्रैफिक को बढ़ा सकते है।
अपने ब्लॉग या वेबसाइट की ऑर्गेनिक ट्रैफिक बढ़ाने के लिए SEO का इस्तेमाल करना बहुत ही जरूरी होता है क्योंकि आपके वेबसाइट पर ऑर्गैनिक ट्रैफिक जाएगी तो उससे आपकी इनकम भी बढ़ जाएगी और आप ज्यादा से ज्यादा पैसे कमाने लगेंगे।

SEO का फुल फॉर्म क्या होता है?
SEO का full form search engine optimization होता है। इसका काम वेबसाइट को रैंक करना और वेबसाइट पर ट्रैफिक बढ़ाना होता है, Seo गूगल का सबसे important factor है आज के समय में गूगल दुनिया का सबसे ज्यादा इस्तेमाल किये जाने वाला search engine है जो 200 seo फैक्टर पर काम करता है।

गूगल के अलावा Bing और Yahoo भी दूसरे सर्च इंजन हैं जो प्रयोग किये जाते हैं. Search Engine Optimization करने के बाद हम अपने वेबसाइट को Search engines में रैंक कराते हैं।

SEO के प्रकार -Types of SEO in Hindi
ऊपर हमने बता दिया है कि Seo क्या होता है और क्यू ज़रूरी होता है अब हम जानेंगे कि Seo कितने प्रकार का होता है और उनके क्या क्या कार्य होते है SEO मुख्यतः दो प्रकार का होता है पहला On page seo और दूसरा Off page seo होता है।

On Page SEO
अपने ब्लॉग या वेबसाइट के अन्दर जो हम Search engine Optimization करते है उसे हम on page seo कहते है जैसे कि अपने ब्लॉग की डिज़ाइन करना जो Seo friendly हो।

अपने ब्लॉग की स्पीड ऑप्टिमाइजेशन करना, responsive theme लगाना और आपको अच्छे अच्छे कंटेंट लिखना होगा जो लोगो को आसानी से समझ आ जाये और आपके page की speed बेहतर हो ताकि आपकी site fast खुले जिससे आपकी साइट जल्द grow होगी।

पोस्ट लिखने से पहले keywords research करना बहुत ही ज़रूरी होता है क्योंकि पोस्ट रैंकिंग में keywords का होना बेहद ज़रूरी होता है कीवर्ड्स में आपको Title, Permalink, Meta discription लिखना होता है।

आपको internal और external linking करना होता है जिससे गूगल आसानी से हमारे ब्लॉग को सर्च रिजल्ट में रैंक करवा देता है जिसकी वजह से हमे ऑर्गैनिक ट्रैफिक मिलती है ये सभी चीज़े on page seo में आता है।

अगर आप on page seo के बारे में पूरी डिटेल में जानना चाहते है तो हम आपको यहां पूरी डीटेल में बतायेंगे और आसान भाषा में समझायेंगे की आप किस तरह से on page seo करें।
प्रत्येक पॉइंट को बड़े ही ध्यान से पढ़ना होगा क्योंकि जो मैं बताने वाला हु वो मेरा 4 साल का persnol exprience है जो आपके Seo के लिये लाभदायी साबित हो सकता है।

Proper Keyword Reasearch करना
ब्लॉग पर जो नए नए लोग आते हैं पोस्ट लिखना तो शुरू कर देते हैं पर कभी भी वह प्रॉपर कीवर्ड रिसर्च करके आर्टिकल नहीं लिखते हैं जिसकी वजह से उनका पोस्ट कभी भी रैंक नहीं करता है।

अगर आप कीवर्ड रिसर्च करके पोस्ट को नहीं लिखते हैं तो आप कभी भी गूगल में रैंक नहीं कर सकते है यह समझ लीजिए कि आप अपना टाइम बर्बाद कर रहे हैं, अगर आप नए ब्लॉगर है तो आपको long-tail कीवर्ड का इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि long-tail कीवर्ड को गूगल जल्दी समझ पाता है और रंक कर देता है।

Website की Navigation
आपके ब्लॉग या वेबसाइट की डिजाइन easy to use होनी चाहिए ताकि कोई भी विजिटर आपकी साइट पर आए तो उसे आपके पोस्ट को पढ़ने में आसानी हो और वह आपके साइट पर ज्यादा से ज्यादा समय तक रहे।

Title Tag
आपको अपने website में title tag को attractive बनाना होगा ताकि कोई भी visitor आपके title को देखे तो क्लिक कर दे जिससे आपका CTR maintain होगा, आपको अपने Title में कम से कम 60 words का प्रयोग करना है अगर आप 60 words से बड़ा लिखते है तो गूगल के title tag में नही दिखेगा।

Permalink
permalink में कभी भी stop word (is,am,are) का प्रयोग ना करे। पोस्ट का url हमेशा छोटा और simple लिखे क्योंकि गूगल को समझने में आसानी होती है।

Internal Linking
अपने ब्लॉग का bounce rate maintain करने के लिए internal linking करना बहुत ही ज़रूरी होता है। अपने पोस्ट से related internal linking करने से आपकी पोस्ट रैंक करने के chances ज्यादा हो जाते है और आपकी site fast हो जाती है।

Meta Description
आपका जो main keyword होता है उसको पोस्ट के Meta Description में ज़रूर डाले और description ऐसा लिखना होता है जब कोई उसे देखे तो बिना ओपन किये रह ना सकें।

Image Optimization
आपको एक बात का खासा ध्यान रखना होगा आप जब भी इमेज को अपलोड करें तो उसकी साइज कम होनी चाहिए क्योंकि image की size जितना बड़ा होगा आपका पेज उतना लोड लेगा और देर से खुलेगा जिससे आपकी साइट slow हो जायेगी।

External Linking
अपने पोस्ट के अन्दर external linking करना बहुत ही ज़रूरी होता क्योंकि external linking उस topic को represent करता हो और refrence के लिए वहाँ से जानकारी मिल सके।

Social Signals
आपको अपने पोस्ट को Social media platform जैसे Instagram, Facebook Twitter आदि पर ज़रूर शेयर करे क्योंकि वहाँ से भी आपकी साइट पर ट्रैफिक आते है और आपकी साइट grow होने के chances बढ़ जाते है।

Content, Heading और Keyword
आपको अपने पोस्ट पर कम से कम से कम 1000 words के आर्टिकल लिखने होंगे क्योंकि एक अच्छा पोस्ट तभी होगा जब आपका पोस्ट बड़ा होगा और सही तरीके से पोस्ट का Seo होगा। एक बात का खासा ध्यान रखना होगा आपका आर्टिकल कॉपी राईट ना हो नही तो आप कभी भी रैंक नही कर सकते है।

आपको अपने पोस्ट में Heading का खास ध्यान रखना होगा क्योंकि हैडिंग Seo पर काफी असर डालता है, H1, H2, H3 में आपको Focus keywords का इस्तेमाल करना होता है।
जब आप आर्टिकल लिखते है तो उसमें keyword का प्रयोग ज़रूर करे और जो important keyword होते है उसे Bold कर दे ताकि visitor को आसानी से पता लग सके कि ये मुख्य शब्द है।

Off Page SEO
पोस्ट को पब्लिश करने के बाद जो बाहर का काम होता है जैसे बैकलिंक्स बनाना ब्लॉग प्रमोशन करना यह सारी चीजें Off-page Seo में आती हैं।

Guest Post
बैकलिंक्स बनाने का सबसे बेहतरीन और आसान तरीका तरीका है वह गेस्ट पोस्ट के द्वारा होता है जब आप किसी अच्छी वेबसाइट के लिए गेस्ट पोस्ट लिखते हैं तो आपको Dofollow backlink मिलता है जो आपके डोमेन अथॉरिटी को बढ़ाता है।

Backlinks
जब आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट के लिए backlinks बनाते है तो आपकी domain authority बढ़ती है जो आपकी साइट के लिये बहुत ही महत्वपूर्ण होता है जब वेबसाइट के किसी का पोस्ट या homepage का लिंक किसी दूसरे वेबसाइट से जुड़ता है तो आपकी साइट grow होती है और आपका DA बढ़ता है।

जब आप backlink बनाये तो एक बात का खासा ध्यान रखे जो backlink आप बताये वह आपके वेबसाइट से related ही हो चाहे आप गेस्ट पोस्ट लिख कर बनाये या फिर किसी पोस्ट पर comment करके बनाये।

Discussion Sites
आप Quora जैसी साइट्स का नाम ज़रूर सुना होगा जहां पर आप अपने Question को पूछते हो और वहाँ के expert आपके सवालो का जवाब देते है, जब Quora पर सवालो के जवाब देते है तो वहां पर अपने साइट का लिंक भी दे सकते है और अपने Quora साइट से अपने वेबसाइट पर ट्रैफिक ला सकते है।

Local SEO
Local SEO को संक्षेप में जान लीजिये वैसे टेक्निक्स जिसके द्वारा हम अपने वेबसाइट को लोकल एरिया के लोगों के लिए ऑप्टिमाइज़ करते हैं और फिर इसे सर्च इंजन में रैंक कराते हैं उसे Local SEO कहा जाता है।

Local Seo में ब्लॉग या वेबसाइट को optimize किया जाता है जिससे की search इंजन पर बेहतर रैंक करे एक वेबसाइट की मदद से आप पूरे इन्टरनेट को टारगेट कर सकते है लेकिन वही अपको local एरिया को टारगेट करना हो तो उसके लिये Local Seo का इस्तेमाल करना होता है।

Local SEO का उदाहरण
अगर आपके पास कोई लोकल business हो और आपके पास एक दुकान हो जहाँ पर लोगो का आना जाना लगा हो तब आप अपने वेबसाइट को कुछ इस तरह से optimize करते है जिसकी वजह से लोग रियल लाइफ में आपके पास आसानी से पहुच पाते है।
अगर आप लोकल एरिया को टारगेट करते है तो उसको उसी हिसाब से वेबसाइट को seo ऑप्टिमाइज़ करते है तो इस प्रकार के seo को Local SEO कहते है।

SEO ब्लॉग के लिये क्यों जरूरी है?

SEO ब्लॉग के लिये क्यों जरूरी है?

जब हम ब्लॉग या वेबसाइट बनाते है तो हमारा मकसद होता है कि लोगो तक अपनी बात को पहुँचाना ब्लॉग या वेबसाइट बनाना अलग बात है और अपनी बात को लोगों तक पहुचाना अलग बात है।

हम बहुत मेहनत करते है ब्लॉग या वेबसाइट बनाते है और उसमें ढेर सारे पोस्ट लिखते है और उसमें Seo कुछ भी नही करते है तो हमारा ब्लॉग कभी भी सर्च रिजल्ट में अच्छा परफॉर्मेन्स नही करेगा।

अब आपको यह बात समझ में आ गया होगा ब्लॉग या वेबसाइट को लोगो तक दिखाना है तो आपको गूगल के सर्च रिजल्ट में अच्छा परफॉर्मेन्स करना होगा तभी आप ब्लॉग्गिंग में सफल हो सकते है।

आपको इस बारे में जितना ज्यादा जानकारी होगी आप उतना ही अपने ब्लॉग या वेबसाइट को लोगो तक पहुँचा सकेंगे जिससे ज्यादा लोग हमारी साइट दिखेंगे और हम उतना ही ज्यादा पैसे कमा सकेंगे।

आपको अपने पोस्ट seo करना बहुत ही ज़रूरी होता है क्योंकि आपका पोस्ट सही तरीके से seo नहीं होगा तो आपका पोस्ट टॉप 10 में रैंक नही करेगी क्योंकि ज्यादा से ज्यादा लोग गूगल के पहले page से ही जानकारी लेते है दूसरे पेज पर बहुत कम ही लोग जाते है।

SERP क्या है?
इंटरनेट पर हजारों Pages होते हैं लेकिन हमारे लिए कुछ महत्वपूर्ण होते हैं जब हम अपने सर्च के अनुसार कुछ ढूंढते हैं तो हमें उसी के विषय में दिखाई जाता है या फिर हम क्या कह सकते हैं कि हम जिस चीज को ढूंढते हैं इंटरनेट पर हमें वही चीज दिखाई जाता है उसे हम SERP कहते है।

SEO हिंदी में
आप सब समझ ही गए होंगे के SEO क्या है (What is SEO in Hindi). यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं.

आसानी से अब आप एसईओ क्या होता है का जवाब बेझिझक दे सकते हैं. आपके इन्ही विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिलेगा.

यदि आपको मेरी यह लेख सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन की जानकारी हिंदी में अच्छा लगा हो या इससे आपको कुछ सिखने को मिला हो तब अपनी प्रसन्नता और उत्त्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *